y
MANUU LOGO
 
विश्वविद्यालय के बारे में :: कुलाधिपति (श्री. ज़फ़र सरेशवाला)

श्री. ज़नाब ज़फर सरेशवाला,
कुलाधिपति,
मौलाना आज़ाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी,
हैदराबाद

C

जनाब ज़फ़र युनूस सरेशवाला, माननीय कुलाधिपति, मौलाना आज़ाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी(मानू), एक प्रौद्योगिकीविद , व्यवसायिक एवं एक सुप्रसिद्ध परोपकारी व्यक्ति हैं । आपने यांत्रिक अभियांत्रिकी (मकैनिकल एन्जनिरिंग) में डिप्लोमा एवं व्यापार प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा किया है। आप पारसोली समूह के संस्थापकों में से एक है और इस समय पारसोली मोटर वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक है। आपको इस्लामिक बैंकिंग एवं वित्त का उद्यमी माना जाता है। इन्हें दुनिया भर में इस्लामिक बैंकिंग और वित्त पर आयोजित सम्मेलनों में व्याख्यान के लिए आमंत्रित किया जा चुका है । हार्वर्ड विश्वविद्यालय,बोस्टन द्वारा आयोजित सम्मानित हार्वर्ड इस्लामिक बैंकिंग एवं वित्त मंच पर सदैव एक अतिथि एवं वक्ता के रूप में बुलाए जाते है। आप इस्लामिक बैंकिंग एवं बीमा संस्थान, लंदन में वक्ता है और आपके द्वारा पर्चे भी प्रस्तुत किए गए है।

जनाब ज़फ़र सरेशवाला एक दूरदर्शी व्यक्ति है। आपका लक्ष्य, उर्दू जानने वाले लोगों को उच्च शिक्षा से अच्छी तरह सन्नद्ध करना और प्रतिस्पर्धी बाजार में उनकी गतिशीलता को सुनिश्चित करना है। मानू के कुलाधिपति के रूप में कार्यभार संभालने के उपरान्त उन्होंने मानू के संकाय सदस्यों के साथ अपनी प्रथम बैठक में बताया कि उन्होंने विश्वविद्यालय और उद्योगों के मध्य एक कडी स्थापित करने का प्रयास किया है और विश्वविद्यालय के दूसरे दौरे के दौरान वे अपने साथ एक मेज़बान के रूप में उद्योग-जगत के विशेषज्ञों, निदेशकों एवं कुछ सुप्रसिद्ध कंपनियों के प्रबंध निदेशकों को लाए और छात्रों के प्रशिक्षण, कौशल विकास एवं मानू के छात्रों के लिए रोजगार से संबंधित एक समझौता ज्ञापन मानू और इन कंपनियों के बीच किया गया ।

जनाब ज़फ़र सरेशवाला का पूरा ध्यान मानू के छात्रों के रोजगार पर केन्द्रित है। मानू के कुलाधिपति के रूप में आपकी नियुक्ति ने शैक्षणिक समुदाय में एक उत्साह भर दिया है।

आप एक सुप्रसिद्ध व्यवसायिक परिवार से आते है, जनाब ज़फ़र सरेशवाला ने मुसलमानों के सामाजिक कल्याण से संबंधित कार्यों को अपने हाथों में ले लिया है। राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय चैनलों में आपकी असीम उपस्थिति के माध्यम से मुसलमानों के मुद्दों को उजागर करने की आपकी प्रतिबद्धता अत्यन्त स्पष्ट रूप से दिखाई पडती हैं। आप मुसलमानों के सामाजिक मुद्दों की पेचीदगियों से अवगत है और स्पष्टवादी एवं व्यावहारिक दृष्टिकोण के माध्यम से उनका समाधान करने का प्रयास करते है। आप सरकार और मुसलमानों के मध्य एक अंतराफलक के रूप में कार्य करते है।

जनाब ज़फ़र सरेशवाला पूर्ण हृदय से धार्मिक है परन्तु आप अपनी प्रवृत्ति और दृष्टिकोण से अत्यंत आधुनिक है। वस्तुत: आपका व्यक्तित्व धार्मिकता और आधुनिकता के मध्य किसी भी प्रकार का विरोधाभास नही दर्शाता हैं।

जनाब ज़फ़र सरेशवाला के पास दुनिया भर में वित्त उत्पादों एवं सेवाओं के प्रबंधन का 25 वर्षों से ज्यादा का अनुभव है । आप सन् 1980 के अंत में शेयर बाज़ार में शामिल हुए । आप एक मुख्य बी.एस.ई. शेयर दलाल के रूप में शामिल हुए और व्यापार में आपका प्रवेश एक बिल्ला धारक के रूप में हुआ। आपने सन् 1990 में अपनी खुद की उप-दलाली कंपनी की स्थापना की, उसे पारसोली निवेश एवं व्यापार कंपनी प्रा.लि. के नाम से प्रारंभ किया। आपके द्वारा कंपनी को बी.एस.ई. में सूचीबद्ध करवाया गया और 1995 में इसे एक सार्वजनिक लिमिटेड कंपनी बनाया और इसका नाम बदल कर पारसोली कारपॉरेशन लिमिटेड रखा। सन् 1995 में, भारत सरकार ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड को शुरू किया और पारसोली एन.एस.ई. में एक संगठित दलाल बन गया। जनाब ज़फ़र सरेशवाला के मार्गदर्शन में पारसोली ने धीरे-धीरे परन्तु निश्चित रूप से सन् 1990 के दशक के दौरान अपने व्यापार का विस्तार किया और सन् 1998 में ग्रेट ब्रिटेन में रह रही बड़ी मुस्लिम आबादी की सेवा करने के लिए पारसोली(यू.के.)लिमिटेड का गठन किया । पारसोली ने सन् 2006 में भारत का पहला इस्लामिक इक्विटी सूचकांक प्रारंभ किया और उसे पारसोली इस्लामिक इक्विटी (पी.आई.ई.) सूचकांक का नाम दिया। भारत के बाजारों के प्रति जागरूकता पैदा करना एवं शिक्षित करने के प्रयास किया, आपने पूरे भारत में वर्ष 2007-08 में ' फस्ट इस्लामिक इंवेस्टमेंट आपॉर्चूनिटी ' नाम से टी.वी. पर सम्मेलनों की एक श्रृंखला को प्रारंभ किया था। आपके दृढ़ प्रयासों के कारण भारत में इस्लामी वित्तीय उत्पादों एंव सेवाओं को स्वीकृत किया गया।

पारसोली कारपॉरेशन लिमिटेड की सफलता और विकास की कहानी के पीछे आपके मार्गदर्शन, दूरदर्शिता एवं परिश्रम के कारण वर्ष 2007 में ' बेस्ट इस्लामिक ब्रोकिंग ' व्यव्साय-संघ के रूप में सम्मानित किया गया था और इस्लामिक वित्त समाचार, एक अग्रणी वैश्विक इस्लामिक समाचार प्रदाता द्वारा वर्ष 2009 में 'बेस्ट इंडेक्स प्रोवाइडर ' की श्रेणी में नामांकित किया गया था । पारसोली मोटर्स लिमिटेड के माध्यम से पारसोली ने अपनी शाखाओं का विस्तार करते हुए वर्ष 2007-08 में गुजरात राज्य में बी.एम.डब्लयू - इंडिया के प्रमुख विक्रेता बने और इनकी मौजूदगी अहमदाबाद, सूरत और राजकोट में भी है।

जनाब सरेशवाला ने व्यापक रूप से यात्राएं की है। हाल ही में, आप प्रधान मंत्री महोदय के जापान, संयुक्त राज्य अमेरिका दौरे में और आस्ट्रेलिया में आयोजित जी-20 शिखर सम्मेलन में उनके साथ थे।

महत्वपूर्ण लिकं
बैठक का कार्यवृत
सूचना / परिपत्र
समाचार एवं कार्यक्रम
प्रेस विज्ञप्ति
विशाखा
कर्मचारी लॉगिन
कर्मचारी पटल
विवरण -पुस्तिका 2015-16
अभिलेखागार
निविदा
सूचना का अधिकार
सार्वजनिक अवकाश की सूची

मुख्य पृष्ठ  |  बहुधा पूछे गए प्रश्न  |  सम्पर्क करें  
©2012 मौलाना आज़ाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी, हैदराबाद, सर्वाधिकार सुरक्षित ।
Blue ThemeRed ThemeGreen Theme